Home Government Schemes मेक इन इंडिया

मेक इन इंडिया

0
1
मेक इन इंडिया
(बेहतर भारत निर्माण के लिए…)
वर्तमान में भारत की जी डी पी में विनिर्माण क्षेत्र का योगदान लगभग 13% है ,जो की चीन(43%) की तुलना में काफी कम है ।
(नोट :- नई सरकार का 25% लाने का लक्ष्य)
चीन की निर्यात नीति लोकप्रिय होने का सबसे मुख्य कारण ,विनिर्माण क्षेत्र का मजबूत होना है ।
भारत की अर्थव्यवस्था कमजोर होने का मुख्य कारण – इंफ्रास्ट्रक्चर में कमी तथा विनिर्माण क्षेत्र का कमजोर होना है ।
उपर्युक्त समस्या को दूर करने तथा विनिर्माण क्षेत्र को मजबूत करने के लिए प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने 25 सितम्बर 2014 को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में “Make In India”  अभियान की शुरुआत की ।
इसका उद्देश्य निवेश को बढ़ावा देना, नवाचार (innovation) को प्रोत्साहित करना तथा विनिर्माण क्षेत्र को मजबूत करना है। इस अभियान के तहत 26 क्षेत्रो को टारगेट किया गया है जिससे नवाचार के साथ निवेश के माध्यम से गतिशील विनिर्माण को बढ़ावा दिया जा सके । इसमें स्किल डेवलॅपमेंट के साथ विर्निमाण को मजबूत बनाना है ।
इस अभियान का संचालन सार्वजानिक-निजी भागीदारी के तहत सम्पन होगा ।
        इसके लिए DMIC development Corporation, औद्योगिक नीति एन्व प्रोत्साहन विभाग, इन्वेस्ट इंडिया तथा FICCI को एक मंच पर लाने का प्रयास किया गया है । आठ सदस्यों की एक विशेषज्ञ समिति का गठण किया गया है जिसका कार्य निवेश ,नवाचार,बौद्धिक सम्पदा तथा विनिर्माण से सम्बंधित बुनियादें ढांचे को बेहतर बनाने का सुझाव देना है ।
          मेक इन इंडिया के तहत “निवेशक सुविधा प्रकोष्ठ” बनाया गया है जिसका मुख्यालय नई दिल्ली में है ।
          इसके लिए एक ई-बिज़ पोर्टल की स्थापना की गई है, जहाँ औधोगिक उधमियों तथा निवेशकों को भारत में उधोग निर्माण तथा निवेश के लिए ऑनलाइन सुविधाएं प्रदान की जाएंगी । सभी सरकारी विभागों को आपस में जोड़ा जायेगा। औद्योगिक गलियारों को बंदरगाहों, हवाई अड्डो तथा विपणन स्थलों से जोड़ने की प्रक्रिया प्रारम्भ हो चुकी है । इनके साथ स्मार्ट सिटी बनाने की और ध्यान दिया जा रहा है ।
इस अभियान का लोगो शेर का चित्र है जो कलपुर्जो के सहारे बनाया गया है ।

हाल ही में RBI के गवर्नर रघुराम राजन ने सुझाव दिया है की इस अभियान का नाम Make in india से बदलकर ” Made by India” कर दिया जाये ।
Written by:-
श्री महेन्द्र सिंह जी भाटी                                

निदेशक:-Saarthi Academy Udaipur

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here